बच्चों का गुस्सा शांत करने के कुछ आसान टिप्स – इन टिप्‍स की मदद से करें कंट्रोल

आजकल हर घर में मां और पिता दोनो काम करते हैं और काम में बहुत व्यस्त रहने के कारण बच्चों को समय नहीं दे पा रहे है जिस वजह से कहीं न कहीं बच्चा अकेला महसूस करता है। कही न कही ये सारी चीजें बच्चो के दिमाग पर असर डाल रही है। बच्चे चिड़चिड़े, गुस्सेल, और बहुत ज्यादा चिल्लाने लगते है। कभी – कभी माता और पिता काम के बहुत ज्यादा दबाव में बच्चे को छोटी छोटी चीजो में भी ज्यादा डॉट देते है जिससे बच्चे भी गुस्सा करना और चिल्लाना सिख जाते है। माताओ अगर आपका बच्चा भी गुस्सा करता है तो यह आपको कुछ टिप्स बताये जा रहे है जिसे अपनाकर आप अपने बच्चों का गुस्सा शांत कर सकती है, तो चलिए जानते है वो कौन कौन से टिप्स जो हर माँ अपना सकती है।

बच्चों का गुस्सा शांत करने के कुछ आसान टिप्स

बच्चो के गुस्से की वजह जाने

अक्सर देखा जाता है कि बच्चे गुस्सा होते है या चिल्लाते है माता-पिता, बच्चे को डांट कर एक तरफ हटा देते है या बच्चे को पीटते है लेकिन ये तरीका बिल्कुल सही नहीं होता है। जब भी बच्चे गुस्सा करते है तो माता-पिता को बच्चो के साथ बैठ कर उनके गुस्सा होने की वजह जाननी चाहिये। ये भी बेस्ट तरीका होता है बच्चो का गुस्सा शांत करने का।

बच्चो को गुस्सा कंट्रोल करना सिखाये

बच्चों को गुस्सा कंट्रोल कैसे करना है ये भी हमे सिखाना बहुत जरूरी है। जब भी बच्चे को गुस्सा आये उनको शांत रहना सिखाये।बच्चें को सिखाये की गुस्सा होने के बजाय बच्चे अपनी बातें शांत तरीके से बता सकते है। अगर बच्चा धीरे-धीरे अपने गुस्से पर कंट्रोल करने सिख जाए तो बच्चे को तारीफ भी करनी चाहिए जिससे बच्चा और भी ज्यादा मोटिवेट होगा।

बच्चो को कभी कभी अच्छे काम के लिए इनाम भी देना चाहिए

जब भी बच्चे कुछ अच्छा काम करे तो बच्चो की तारीफ करनी चाहिए या कुछ छोटे इनाम भी दे सकती है इससे बच्चे के अंदर गुस्सा कम होगा और माता-पिता से संबंध भी मजबूत होंगे। यहाँ पढ़िए एक खूबसूरत माँ की लिखी रचना।

बच्चो को थोड़ा प्राइवेसी देनी चाहिए

कभी-कभी बच्चो को प्राइवेसी भी देना जरूरी है। हमेशा बच्चो के पीछे-पीछे नहीं रहना चाहिए। हमेशा बच्चों के हर काम मे रोक टोक करने से भी बच्चो में चीड़चिड़ापन या गुस्सैल स्वभाव बढ़ने लगता है।इसीलिए बच्चों को थोड़ा प्राइवेसी देना चाहिए।

बच्चो को कुछ समय दीजिये

आजकल हर माता पिता घर और बाहर के काम करने में इतना ज्यादा व्यस्त हो गए है क़ि बच्चो को टाइम बिल्कुल भी नही दे पा रहे है इसलिए सारे काम करने के बाद भी अपने बच्चे के साथ थोड़ा समय बिताना चाहिए ताकि बच्चे को भी अच्छा लगे उन्हें अकेलापन न महसूस हो। इसलिए आप बच्चे के साथ रोज थोड़ा समय बिताये ताकि बच्चें को अकेलापन न महसूस हो।

बच्चो को बाहर ले जाये

आजकल बच्चे घर मे टीवी,मोबाइल,लैपटॉप, वीडियो गेम इन सब में भी व्यस्त रहते है जिससे बच्चे बाहर नही जाते है। इनसब चीजो का उपयोग कम समय तक  ही करना चाहिए।बच्चो को बाहर ले जाना चाहिए ताकि बच्चे को बाहर की चीजो के बारे में पता चले।पार्क भी लेकर जा सकते है दूसरे बच्चो से मिलने से भी बच्चों में बहुत सारे परिवर्तन होते है ,बच्चे खुश रहते है।

अपना ग़ुस्सा भी कंट्रोल करे

अगर बच्चा कोई गलती करता है हम बच्चे को तुरंत डॉट देते है या बच्चे को मारते है लेकिन कही न कही ऐसा करने से बच्चे भी चिल्लाते या गुस्सा दिखाते है और उनका स्वभाव भी गुस्सेल हो जाता है। इसीलिए कभी कभी बच्चे की गलती को इग्नोर करना चाहिए। बच्चे से गलती होने पर उस समय शांत रहे।बच्चे को गले लगा कर “कोई बात नही बेटा” ये कहे।

तुरंत डांटने पर बच्चा गुस्सा दिखायेगा जिससे उसका स्वभाव भी गुस्सेल होगा।बच्चे को थोड़ी देर बाद समझाये। ऐसे में अपकी औऱ बच्चे मे बॉन्डिंग अच्छी होगी।

बच्चो का ध्यान बाँट कर

जब बच्चा गुस्सा करता है तो आपको शांत रहना चहिये।ऐसे समय मे बच्चो का बाटना सबसे अच्छा तरीका होता है। जिससे बच्चा अपना गुस्सा भी भूल जाएगा। बच्चे को उसके मनपसंद काम करने को दे दीजिये। यकीन कीजिये बच्चा गुस्सा भूल कर काम मे बिजी हो जाएगा और अपना गुस्सा भी भूल जाएगा।

बच्चो को डांस करवाये

जब भी बच्चे उदास हो या गुस्सा करे तो अच्छा म्यूजिक लगाकर बच्चो के साथ डांस करना चाहिए ये एक बहुत मजेदार तरीका है जिससे बच्चो का गुस्सा तुरंत गायब हो जाता है। यहाँ जानिए आपका आपकी संतान से कैसा व्यवहार उचित है।

बच्चो को स्पेशल फील करवाना

हमेशा डॉट सुन कर बच्चे बहुत निराश हो जाते है इसीलिए अगर बच्चो को हम डाँटते है तो बच्चो को स्पेशल फील करवाना भी हमारा ही काम है। इसीलिए बच्चो को स्पेशल फील करवाना चाहिए।

बच्चो की नींद पूरी होने दे

बच्चो की नींद पूरी होंना बहुत जरूरी है। नींद पूरी होने से बच्चे का मन अच्छा होता है। दिनभर बच्चो को पढ़ने में दबाव नहीं बनाना चाहिये। पढ़ाई में साथ साथ बच्चे कर खान – पान और सोने का ध्यान भी रखना चाहिए।

ये सारे टिप्स है जिसके मदद से आप अपने बच्चों का गुस्सा कंट्रोल कर सकती है।

Avatar
1 Comment
  1. Super suggestion 👌👌 truly agree

Leave a reply

MomyHood
Logo
Register New Account
Reset Password
Compare items
  • Total (0)
Compare